अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खे

अनियमित पीरियड्स: उपाय और घरेलू नुस्खे

अनियमित पीरियड्स की समस्या दुनिया की लगभग हर उम्र वाली महिलाओं में एक बहुतायत रूप से पाए जाने वाली समस्या है। एक आकड़े के अनुसार अनियमित पीरियड्स की समस्या दुनिया की कुल (बच्चे को जन्म देने योग्य) महिलाओं में से लगभग 14 प्रतिशत से 25 प्रतिशत महिलाओं को अनियमित पीरियड्स की समस्या है। यदि किसी महिला के तीन या तीन से अधिक बार लगातार पीरियड्स नहीं हुए है या फिर समय से पहले पीरियड्स आना आरम्भ हो गये है तो यह अनियमित पीरियड्स की समस्या के लक्षण हो सकते है। अनियमित रक्त श्राव, दर्द, पेट के आस-पास ऐंठन आदि अनियमित पीरियड्स के आम लक्षण है। अनियमित पीरियड्स से बचाव के लिए निम्नलिखित पैराग्राफ में उपाय व घरेलू नुस्खों का पालन अवश्य करें।

अनियमित पीरियड्स क्या है?

प्रत्येक महिला औसतन 28 दिन में पीरियड्स से गुजरती है, यदि कोई महिला 21 दिन से 35 दिन के बीच कभी भी पीरियड्स से गुजर रही है तो यह एक सामान्य और नियमित पीरियड्स कहलाएगा। पर यदि अगर वही महिला 21 दिन से पहले पीरियड्स का सामना कर रही हो या फिर 35 दिन के बाद उसे पीरियड्स का सामना करना पड़ रहा हो तो यह असामान्य पीरियड्स या अनियमित पीरियड्स कहलाएगा। अनियमित पीरियड्स अधिकतर हॉर्मोन्स में बदलाव के कारण उत्पन्न होते है। हॉर्मोन्स में बदलाव समान्यतः कई कारणों से आ सकता है जैसे थाइरोइड की समस्या और स्ट्रेस में जीवन जीना।

 

अनियमित पीरियड्स के क्या लक्षण है?

  • अनियमित पीरियड्स के लक्षण निम्नलिखित है-
  • पीरियड्स के बीच और बाद में रक्त का श्राव होना
  • सम्भोग के समय रक्त का श्राव
  • असामान्य मासिक रक्त श्राव
  • तीन या अधिक पीरियड्स न आना
  • पेट के आस-पास काफी दर्द होना
  • पेट के आस-पास ऐठन होना
  • पीरियड्स का बहाव सामान्य से कम और अधिक होना

 

अनियमित पीरियड्स होने के क्या कारण है?

अनियमित पीरियड्स निम्नलिखित कारणों से होता है-

  • ओबेसिटी या अत्यधिक मोटापा
  • दुबलापन होना
  • अचानक वजन घटना या घटा लेना
  • किसी अन्य बीमारी की दवा चल रही हो
  • चिंता और स्ट्रेस में जीवन बिताना
  • शरीर में हॉर्मोन्स में असंतुलन
  • थाइरोइड की समस्या
  • खराब लाइफस्टाइल होना
  • जंक फ़ूड और वसायुक्त भोजन का सेवन
  • PCOD की समस्या

क्या करें जब पीरियड्स अनियमित हो?

अनियमित पीरियड्स को नियंत्रित करने के लिए निम्नलिखित उपायों का पालन करें-

  • पेट के मोटापे को कम करें
  • शारीरिक एक्टिविटी को बढ़ाये
  • योग अनियमित पीरियड्स को ठीक करने में अहम भूमिका निभाता है
  • अपनी चिंता व स्ट्रेस को नियंत्रित रखे
  • रोजाना हिप बाथ (Hip bath) ले
  • कच्चे पपीते का सेवन पीरियड्स के समय करें
  • यदि आप मोटापे से पीड़ित है तो अपना वजन धीरे-धीरे घटाए
  • यदि पतले है तो धीरे-धीरे ही बढ़ाये
  • मानसिक तनाव को कम करने के लिए ध्यान करें
  • एक निश्चित रूटीन का पालन करें
  • संतुलित आहार का सेवन करें
  • अपने भोजन और पेय में अदरक का प्रयोग करें
  • एक चम्मच सेब के सिरके का सेवन रोजाना करें
  • अनानास का सेवन अनियमित पीरियड्स के लिए काफी बेहतर फल है
  • अस्वस्थ भोजन जैसे प्रोसेस्ड फ़ूड और तला-भुना भोजन बिलकुल न करें
  • निम्नलिखित नुस्खों का पालन अवश्य करें

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खे

अनियमित पीरियड्स को ठीक करने के लिए निम्नलिखित नुस्खों का पालन करें-

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खा

सामग्री: दालचीनी की एक लकड़ी, चाय पत्ती, गुड़ और पानी

स्टेप १: दालचीनी की एक लकड़ी को बारीक पीसकर पाउडर बना लीजिये और आधा चम्मच चाय पत्ती लेकर एक गिलास पानी में डाल दीजिये।

स्टेप २: दालचीनी और चाय पत्ती मिलाने के पश्चात पानी के गिलास को 2 से 3 मिनट के लिए गर्म करें।

स्टेप ३: पानी को उबालने के पश्चात उसमें मीठे स्वाद के लिए गुड़ कुछ मात्रा की मिला लीजिये।

निर्देश: इस चाय का सेवन रोजाना दिन में कम से कम 2 से 3 बार अवश्य करें। दालचीनी शरीर में गर्मी बढाती है और अनियमित पीरियड्स में सुधार लाती है।

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खा

सामग्री: कच्चा पपीता और दही

स्टेप १: एक कच्चे पपीते का कुछ भाग लेकर उसको छोटे-छोटे त्रिकोणीय हिस्सों में काट ले।

स्टेप २: कटे हुए पपीते में उतनी ही मात्रा दही की अच्छी तरह मिला ले।

निर्देश: पपीते और दही के मिश्रण को पीरियड्स होने से दो से तीन दिन पहले खाये, इसका सेवन आप सुबह में नास्ते के तौर पर कर सकते है और शाम में नास्ते के तौर पर भी। इसका सेवन अनियमित पीरियड्स को ठीक करने के लिए अति आवश्यक है।

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खा

सामग्री: हल्दी पाउडर, गुड़, शहद और दूध

स्टेप १: एक गिलास गर्म दूध लेकर उसमें एक चौथाई चम्मच हल्दी पाउडर, एक चम्मच कद्दूकस हुआ गुड़ और एक चम्मच शुद्ध शहद मिला लीजिये।

स्टेप २: अच्छी तरह से इन सभी उत्पादों को मिलाने के पश्चात इसका सेवन करें।

निर्देश: इस दूध का सेवन रोजाना दिन में कम से कम 2 बार अवश्य करें। हल्दी शरीर में कई तरह से संतुलन को कायम रखता है। अनियमित पीरियड्स को ठीक करने में यह नुस्खा अति कारगर है।

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खा

सामग्री: सौंफ और पानी

स्टेप १: दो चम्मच सौंफ लेकर एक गिलास पानी में रात भर डुबोकर रख दीजिये।

स्टेप २: सुबह पानी को छननी से छानकर एक गिलास में निकाल लीजिये।

निर्देश: इस मिश्रण का सेवन रोजाना सुबह खाली पेट करें। सौंफ रात भर जल में अपने जरूरी पोषक तत्व छोड़ देता है, सौंफ अनियमित पीरियड्स को ठीक करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खा

सामग्री: धनिये की पत्तियाँ और शहद

स्टेप १: धनिये की कुछ पत्तियाँ लेकर उसको ओखली के सहायता से कूट ले।

स्टेप २: कूटने के पश्चात छननी में दबाव से धनिये का रस एक गिलास में निकाल लीजिये।

स्टेप ३: धनिये का रस निकालने के पश्चात उसमें एक चम्मच शहद अच्छी तरह मिला लीजिये।

निर्देश: इस मिश्रण का सेवन रोजाना दिन में कम से कम दो बार अवश्य करें। अनियमित पीरियड्स को संतुलित और नियमित बनाने में धनिये की एक अहम भूमिका है। 

 

अनियमित पीरियड्स के लिए घरेलू नुस्खा

सामग्री: अदरक, गुड़ और पानी

स्टेप १: अदरक की एक गाठ लेकर उसको कूट ले और एक गिलास पानी में कम से कम 2 से 3 मिनट के लिए उबाल ले।

स्टेप २: उबालने के पश्चात उसे छननी से एक गिलास में छान ले और उसमें एक चम्मच कद्दूकस की हुई गुड़ अच्छी तरह मिला लीजिये।

निर्देश: अदरक मिश्रित इस जल का सेवन रोजाना खाना खाने के ठीक पश्चात करें। यह अनियमित पीरियड्स की समस्या को ठीक करता है और राहत प्रदान करता है।

 

Video

Our Products

Home Remedies

WRINKLES FREE FACE