For JOINT PAIN and ARTHRITIS

Jod Dard Tablet Sanyasi Ayurveda
  • Jod Dard Tablet Sanyasi Ayurveda
  • Jod Dard Tablet Sanyasi Ayurveda
  • Jod Dard Tablet Sanyasi Ayurveda
  • Jod Dard Tablet Sanyasi Ayurveda

Sanyasi Jod Dard Tablet

Type : Ayurvedic Medicine Pack Qty : 120 Tab.

650 699 49 off on online payment
Qty.
Buy Now

About The Medicine

Sanyasi Jod Dard Tablets are for those people who feel pain in their joints. They feel unbearable pain in their knees, neck, shoulder, back, even the fingers of hands and feet. The usage of all kinds of oils, medicines, sprays, massage does not show any significant improvement. These tablets work on the root cause of these problems, increase the grease in your joints, decrease swelling and redness, and lessens joint pain. This formula is 100% ayurvedic with no side effects or harm to the body. You will feel the result within the first 15 days of its intake.
 

आज हर 5 में से 1 व्यक्ति जोड़ दर्द की समस्या से परेशान हैं, शरीर में जहां भी जोड़ होते हैं, वहां तकलीफ रहने लग जाती है, कुछ लोगों को घुटनो और कमर में दर्द होता है, लेकिन अगर बीमारी बढ़ जाये तो कंधे, एड़ी, उंगलियाँ, टखने आदि में भी दर्द होने लगता है, कई बार तो इसमें इतनी असहनीय पीड़ा होती है कि, मारे दर्द के चीखें निकल जाती हैं, चलने-फिरने, उठने-बैठने में भी तकलीफ होती है, बैठ जाओ तो उठने को दिल नही करता, उठ जाओ तो बैठा नही जाता, शरीर कुछ काम करने लायक नही रहता, हरदम शरीर में सुस्ती, थकावट बनी रहती है, सीढ़ियां चढ़ने-उतरने में भी तकलीफ होती है, कई बार तो डॉक्टर भी कह देते हैं, कि जोड़ों में ग्रीस खत्म हो गई है, या जोड़ आपस में रगड़ खाने से सूजन आ गई है, जिस वजह से तकलीफ हो रही है, किसी जमाने में तो यह समस्या  सिर्फ बड़े-बुजुर्गो को ही होती थी लेकिन आजकल तो जवान लोग भी इसका शिकार होने लगे हैं। 
 
इन सब बातों को ध्यान में रख कर सन्यासी आयुर्वेदा ने प्राकृतिक जड़ी-बूटियों से सन्यासी जोड़ दर्द टेबलेट का निर्माण किया है, यह दवा जोड़ों के दर्द की असली वजह वात रोगों से आई हुई इम्युन सिस्टम की खराबी को ठीक करती है, इसके सेवन से जोड़ों के बीच रहने वाली चिकनाई का संतुलन बनने लग जाता है, तथा जोड़ों की आपस में रगड़ खाने की वजह से आई सूजन, दर्द, लालिमा, संवेदनशीलता घटने लग जाती है, जोड़ों की जकड़न खुलने लगती है, और शरीर पूरी तरह से काम करने के काबिल तथा इम्युन सिस्टम की खराबी की वजह आई हुई विकृति ठीक होने लग जाती है, जिस से बॉडी सैल अपना काम ठीक से करना शुरू कर देते हैं, तथा तकलीफ घटने लग जाती है।

Description

God forbid that any one of us ever faces any pain in joints. It is such a terrible situation that if one sits he/she is unable to stand and if one stands they are unable to sit. They feel unbearable pain in their knees, neck, shoulder, back, fingers of hands and feet, and even all the joints of the body at times. The usage of all kinds of oils, medicines, sprays, massage does not show any significant improvement because these things work superficially but do not work on the root cause of the issue. 
Keeping all these concerns in mind we, at Sanyasi Ayurveda have created Sanyasi Jod Dard Tablets which balance the Vata system of the body, regulate the flow of blood in the veins, and help to Produce the Liquid/oily grease around the joint bones which smoothens the functioning of joints. , decrease swelling and redness and lessens the joint pain. This formula is 100% ayurvedic with no side effects or harm to the body. You will feel the result within the first 15 days of its intake

People between the age group of 18 to 60 can consume these tablets.

Not recommended for:-

This medicine is not recommended for those who have diseases like T.B., Ulcer, Cancer, Liver cirrhosis, Hepatitis, and any problem related to Heart or Kidney. Also, If one has undergone any minor or major surgery in the last 1-1.5 years or has any major disease which requires a frequent visit to a doctor, pregnant females or feeding mothers are suggested to avoid the intake of this medicine for precautionary purposes.

भगवान न करे कि किसी को जोड़ दर्द की बीमारी हो, क्योंकि यह एक ऐसी बीमारी है कि जो सब कुछ होते हुए भी इनसान को अपाहिजता का अहसास करवा देती है, यहां तक कि इंनसान को उठने बैठने में भी तकलीफ होती है, जोड़ शरीर का वो हिस्सा है जहाँ दो हड्डियां आपस में आकर मिलती हैं, इन हड्डियों के बीच में एक ग्रीसनुमा चिपचिपा पदार्थ मौजूद होता है, जो जोड़ों को चलने फिरने मूवमेंट करने में मदद करता है, अगर किसी कारणवश या बीमारी की वजह से यह चिकना पदार्थ कम हो जाए तो जोड़ों की हड्डियां आपस में रगड़ खाने लगती है, जिस वजह से शरीर के उस हिस्से में सूजन, दर्द, लालिमा, संवेदनशीलता रहने लग जाती है, तथा जोड़ मूवमेंट करने में तकलीफ देने लगते हैं। कई बार दर्द इतना असहनीय हो जाता है कि दर्द के मारे बुखार तक चढ़ जाता है, कई बार कुछ लोगों को एक और शिकायत हो जाती है जिसमें अपनी ही बॉडी के सैल अपनी ही हड्डियों को ऐसे खाने लगते हैं, जैसे कि चूहा किसी चीज को कुतर-कुतर कर खाने लग जाता है, जिससे असहनीय पीड़ा होती है, तथा जोड़ जाम हो जाते हैं, दोनो ही स्थिति में इंसान का जीना दूभर हो जाता है। वह किसी काबिल नहीं रह जाता। 

जोड़ दर्द सिर्फ घुटनों के ही दर्द को नहीं कहते, जहां-जहां भी दो हड्डियां आपस में मिलती हैं, उसे जोड़ कहते हैं, इसलिए चाहे जोड़ों में दर्द हो, कमर दर्द हो, घुटनों का दर्द हो, उगलियों में दर्द हो, या कन्धे, कूल्हे, गर्दन, टखने, कही भी दर्द हो सभी जोड़ दर्द की श्रेणी में आते हैं।
 
इन सब बातों को ध्यान में रख कर सन्यासी आयुर्वेदा ने प्राकृतिक जड़ी-बूटियों से सन्यासी जोड़ दर्द टेबलेट का निर्माण किया है, यह दवा जोड़ों के दर्द की असली वजह, वात रोगों से आई हुई इम्युन सिस्टम की खराबी को ठीक करती है। इस दवा से जोड़ों के बीच रहने वाली चिकनाई का संतुलन बनने लग जाता है, तथा जोड़ों की आपस में रगड़ खाने की वजह से आई सूजन, दर्द, लालिमा, संवेदनशीलता घटने लग जाती है। जोड़ों की जकड़न खुलने लगती है, और शरीर पूरी तरह से काम करने के काबिल तथा इम्युन सिस्टम की खराबी की वजह आई हुई विकृति ठीक होने लग जाती है, जिससे बॉडी सैल अपना काम ठीक से करना शुरू कर देते हैं, तथा तकलीफ घटने लग जाती है। 

18 - 60 साल तक के व्यक्ति इसका सेवन कर सकते हैं।

कौन-कौन इस दवा का सेवन नही कर सकते :-
अगर किसी को टी.बी., हार्ट प्रॉब्लम, गुर्दे की समस्या, कैंसर, लिवर सोराइसिस, हैपेटाइटिस, अल्सर, लकवा, मिर्गी-दौरे, 1-1.5 साल में कोई ऑपरेशन हुआ हो, गर्भवती महिलाएं व जो बच्चे को दूध पिलाती हों या कोई गंभीर बीमारी हो।

Free Consultation

011 - 45454545

Other Products

Other Products