आँखों की देखभाल के घरेलू उपाय

आँखों की समस्याएं

WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के लगभग 220 करोड़ लोग किसी ना किसी तरह की आँखों की समस्या से परेशान है। इन आंकड़ों से पता लगता है की यह समस्या काफी लोगों में है और अगर भारत की बात की जाये तो 56 करोड़ से अधिक लोगों आँख की किसी ना किसी समस्या से परेशान है। आँखों की समस्या अधिकतर बड़ी उम्र वाले वृद्धों में होती है, लेकिन मोबाइल फोंस का ज्यादा इस्तेमाल और टीवी ज्यादा देखने से और कंप्यूटर इत्यादि ज्यादा इस्तेमाल करने से युवाओं में आंखों की परेशानी को बहुत ज्यादा देखा गया है। मोबाइल फोनों के ज्यादा इस्तेमाल से 3 में से 2 लोग आंखों की परेशानी का सामना करते है। मोबाइल फोन का ज्यादा इस्तेमाल आंखों में सूखापन, धुंधलापन और सर दर्द को बढ़ावा देता है।

आंखों की समस्या से संबंधित लक्षण निम्न है-

  • आँखों में दर्द
  • ठीक से न दिखना
  • फ्लोटर्स का आना
  • आँखों में अकसर पानी का आना
  • लाल और गुलाबी आँखें
  • अचानक अंधकार छा जाना
  • आँखों में जलन होना
  • आँखों में खुजली होना

 यदि कोई भी व्यक्ति ऊपर लिखे गए लक्षणों को महसूस करता है तो उसे किसी ना किसी तरह की आंखों की समस्या है

 आंखों की समस्या के कारण

  • सेलफोंस का अत्यधिक इस्तेमाल
  • प्रदूषित वातावरण
  • किसी चोट का लगना
  • आंखों को ब्लिंक ना करना
  • एलर्जी का होना
  • आंखों में इंफेक्शन का होना
  • विटामिंस की कमी
  • जेनेटिक डिसऑर्डर होना
  • धूम्रपान
  • यूवी रेज
  • बढ़ती हुई उम्र
  • जन्म से समस्या

 आंखों की समस्याओं से क्या परेशानी हो सकती है?

आंखें ईश्वर का दिया हुआ सबसे कीमती तोहफा है और यह शरीर का सबसे संवेदनशील अंग है. आंखों की छोटी से छोटी परेशानी हमें कई गंभीर समस्याएं दे सकती है और सही समय पर इसका उपचार ना करना हमें जीवन भर के लिए अंधा बना सकता है। आंखों की समस्या से होने वाली गंभीर समस्याएं नीचे दी गई है-

  • नाइट ब्लाइंडनेस रात्रि का अधिकार
  • ड्राई आई सिंड्रोम आंखों का सूखना
  • कंजेक्टिवाइटिस
  • निकट दृष्टि दोष
  • दूर दृष्टि दोष
  • मोतियाबिंद का होना
  • आंखों में दर्द
  • अंधापन

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए क्या करें?

  • सोने से पहले 1 घंटे तक फोन का इस्तेमाल ना करें
  • कम से कम 7 से 8 घंटा एक स्वस्थ नींद सोए
  • फोन टीवी कंप्यूटर इत्यादि उपयोग कम करें
  • सुबह उठकर आंखों के चारों तरफ लार लगाए
  • पांव के तलवे तथा उंगलियों का मसाज करें
  • फोन टीवी कंप्यूटर इस्तेमाल करते समय पलकों को बार बार ब्लिंक करें
  • हर सुबह हरी घास के ऊपर नंगे पैर चलें
  • आंखों का व्यायाम रोजाना करें
  • अपनी आंखों की पलकों को रोजाना बच्चों के शैंपू या साबुन से धोएं
  • गर्म और सख्त जमीन पर नंगे पैर ना चले
  • आंखों में दो बून्द बकरी के दूध की डालें
  • कम से कम रोजाना 4 से 5 लीटर पानी पिए
  • प्रदूषित स्थान पर जाएं तो चश्मा जरूर पहने
  • यदि धूप में निकल ना हो तो सनग्लासेस पहने
  • यदि आंखों में हाथ लगा रही है तो हाथों को साफ से धोएं
  • आंखों में सूखापन है तो आंखों में गरम पट्टी से सिकाई करें
  • दो से तीन अखरोट रोजाना खाएं
  • कम से कम 25 सेंटीमीटर की दूरी पढ़ते समय और सेल फोंस इत्यादि में लगते समय रखें
  • निम्बू, संतरा और अंगूर का सेवन करे
  • विटामिन E वाले खाद्य पदार्थ का सेवन करें
  • खलसी (फ्लक्स सीड) का सेवन करे
  • हरी पत्ते वाली सब्जिया खाये
  • तारतक क्रिया आँखों को कई परेशानियों से बचाता है

 

आँखों की अलग अलग समस्याओ के लिए घरेलु उपचार-

आंखों की समस्याएं कई है और हर समस्या का हल भी अलग अलग है नीचे दिए गए घरेलू नुस्खे को अपनाएं और अपनी समस्या को कम करें-

सामग्री- अपमार्ग की जड़

निर्देश- अपमार्ग की जड़ को छाया में सूखाकर उससे अच्छी तरह पीस कर उसका चूरन बनाले और रोजाना एक गिलास पानी में पांच ग्राम चूरन मिलाकर पिए।

यदि आप माशाहारी है तो आप लिवर को शुद्ध घी में तलकर कुछ चुटकीया काली मिर्च के साथ खा सकते है।

आँखों के सूखापन के लिए होम रेमेडी-

  • अलसी की बीज को अच्छी तरह पीस कर एक चम्मच खाने के साथ या जूस के साथ ले।
  • पाम आयल को खाने के तेल के स्थान पर उपयोग करे।
  • चिया के बीज को एक कप में भींगने के लिए रख दे और उसके फूलने पर उसको दूध के साथ मिलाकर उसका सेवन करे।
  • चार से पांच लीटर पानी जरूर पिए।

कंजंक्टिविटीज़ से बचने के लिए उपचार-

सामग्री- आलू

निर्देश- आलू को अच्छी तरह साफ़ कर उसकी बहार की सतह निकाल ले और साफ़ नरम कपडे में उसको उसके आकार के हिसाब से रख कर काट ले और उस कपडे के बिच में रख कर उसे तब तक दबाये जब तक कपडा भीग न जाये।  कपडे के भीगने के बाद उस कपडे को अपनी आँखों के ऊपर कम से कम बिस मिनट तक रखे। यह आपको रोजाना तीन बार करना है।

अपनी आँखों को हर बिस मिनट बाद बिस सेकंड के लिए बंद करे।

आँखों की दृष्टि के लिए घरेलु उपचार-

व्यक्ति जिन्हे पास की नजर और दूर की नजर या दोनों में समस्या है तो वह लोग इस होम रेमेडी को अपना सकते है-

  • हर रोज तीन से चार बून्द घी नाक में डाले
  • त्राटक क्रिया अवश्य करे, हर रोज कम से कम बिस मिनट मोमबत्ती की जलती लौह को अँधेरे में देखे।
  • सौ ग्राम सॉफ पाउडर, सौ ग्राम कूटा हुआ बादाम, सौ ग्राम मिश्री (मोटी चीनी) का पाउडर और पचास ग्राम काली मिर्च पाउडर को आपस में अच्छी तरह मिलाकर रोजाना एक चम्मच दूध के साथ ले।
  • त्रिफला के पाउडर को रोजाना घी के साथ खाये।
  • आँखों की थकावट, सूखापन और दर्द के लिए रेमेडी-
  • मुँह को पूरी तरह पानी से भरले, और फिर आँखों को पानी से धोये।
  • त्राटक क्रिया तब तक करे जब तक आँखों से आंसू न बहने लग जाये।
  • चार से पांच लीटर पानी जरूर पिए।

मोतियाबिंद के लिए घरेलु नुस्खा-

सामग्री- बादाम, काली मिर्च पाउडर और सहद

निर्देश- सात से आठ बादामों को अछि तरह कूट ले।  एक चम्मच काली मिर्च, एक चम्मच सहद को कुटे हुए बादाम के साथ मिलाकर एक गिलास गुनगुने पानी के साथ रोजाना पिए।

दूसरा नुस्खा- सामग्री- दो चम्मच सौंफ पाउडर, दो चम्मच धनिया पाउडर, और एक चम्मच ब्राउन शुगर

निर्देश- तीनो पदार्थो को अच्छी तरह आपस में मिला ले और दिन में रोजाना दो बार खाये।

तीसरा नुस्खा- पांच सौ ग्राम पालक को उबालकर उसे निचोड़ ले और उसके रस को रोजाना दिन में दो बार पिए।

Our Products

Home Remedies

CURE LOW B.P.