फ्लैट ब्रेस्ट के घरेलू उपाय

स्तनों के छोटा होने के कारण और घरेलू  उपाय

 

छोटे स्तनों की समस्या दुनिया की अधिकतर महिलाओं में एक चिंता का विषय है। दुनिया की लगभग हर चौथी महिला स्तनों का वह आकार नहीं पा पाती है जितना की उसके शरीर के लिए उत्तम है। दुनिया में कुछ महिलाये ऐसी है जिनके स्तन जरुरत से अधिक बड़े है और कुछ महिलाये ऐसी है जिनके स्तन लटके हुए से रहते है, केवल कुछ ही महिलाये ऐसी है जिनके स्तन सामान्य और शरीर के हिसाब से उत्तम है। स्तन महिलाओं में एक आकर्षण का केंद्र होते है, स्तन स्त्रियों के पहनावे से लेकर स्त्रियों की मानसिकता में भी बुरा प्रभाव डालता है। उभरे हुए स्तन जिन स्त्रियों के होते है उनमें लगभग हर प्रकार के कपडे जंचते है। स्तन कई प्रकार से छोटे रह सकते है और छोटे स्तनों को सामान्य उभरे हुए स्तनों में बदला जा सकता है। स्तनों को कितना बड़ा होना चाहिए इसका कोई निश्चित माप नहीं है क्योंकि यह हर स्त्री के आकर के हिसाब से प्रभावित होता है (जैसे कोई स्त्री आकर में बड़ी है तो उसके स्तन भी आकार में बड़े होंगे और यदि वही कोई दूसरी लड़की आकार में छोटी है तो उसके स्तन बड़ी वाली लड़की के स्तनों की अपेक्षा छोटे होंगे)।

 

छोटे और अविकसित स्तन क्या होते है?

जब किसी स्त्री के स्तन पूरी तरह से अपना आकर नहीं ले पाते या यदि किसी स्त्री के स्तन उभर नहीं पाते और छाती प्लेन सी दिखाई पड़ती है, महिलाओ के इन स्तनों को अविकसित स्तन या छोटे स्तन (Flat breast) कहते है। अविकसित स्तन महिलाओ में कई कारणों से हो सकते है जैसे होर्मोनेस में बदलाव, मासिक श्राव में रूकावट (Menopause), गर्भाशय के समय और यदि किसी बीमारी की दवाई चल रही हो। यदि किसी स्त्री के स्तनों में बदलाव के साथ-साथ गांठे, दर्द और निप्पलो से असामान्य निकास हो रहा है, तो यह लक्षण ब्रैस्ट कैंसर (Breast cancer) के हो सकते है। अविकसित स्तनों या छोटे स्तनों (Flat breast) के होने की मुख्य जड़ को पहचान कर और उन्हें ठीक कर के अविकसित स्तनों को विकसित किया जा सकता है।

 

अविकसित स्तन (Flat breast) होने के क्या कारण है?

अविकसित स्तन (Flat breast) होने के कई कारण होते है, जिनमे से मुख्या कारण निम्नलिखित है-

  • होर्मोनेस में बदलाव
  • एस्ट्रोजन और कोलेजन की कमी
  • जीवन में कई बार गर्भाशय धारण किया हो
  • बढ़ती हुई उम्र
  • वजन को घटाने व बढ़ाने से भी स्तनों में काफी प्रभाव पड़ता है
  • मेनोपॉज़ और मासिक श्राव में बदलाव से भी स्तनों के विकास में रूकावट उत्पन्न करते है
  • धूम्रपान की आदत
  • शराब का अत्यधिक सेवन

 

अविकसित स्तन (Flat breast) से क्या समस्याएं हो सकती है?

अविकसित स्तन (Flat breast) से निम्नलिखित समस्याएं हो सकती है-

  • अपनी जीवन साथी से कम आकर्षण मिलता है
  • कॉन्फिडेंस में कमी आती है
  • मानसिक तनाव बढ़ता है
  • कुछ कपड़े पहनने में समस्या होती है
  • जीवन साथी से सम्बन्ध में समस्या

 

अविकसित स्तन (Flat breast) को ठीक करने के लिए टिप्स और बचाव

  • अच्छा कम्फ़र्टेबल ब्रा पहने
  • व्यायाम करें (जमीन में पेट के सहारे लेटे और फिर धीरे-धीरे हाथ और पाव के सहारे शरीर को ऊपर की उठाये, इसमें आपके स्तन लटके हुए प्रतीत होंगे, कुछ देर ऐसी अवस्था में रहे, इससे रक्त का संचालन स्तनों में होता है, रोजाना इस व्यायाम को अवश्य करें)
  • धूम्रपान छोड़ दे
  • स्तनों के पास सनस्क्रीन पहने
  • अपने वजन को नियंत्रित रखे
  • जंक भोज्य पदार्थों का सेवन कम करें
  • गर्भाशय ज्यादा धारण न करें

 

अविकसित स्तनों (Flat breast) के लिए घरेलू नुस्खे

निचे अविकसित स्तनों (Flat breasts) को ठीक करने के कुछ घरेलू  नुस्खे दिए गए है-

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए पहला घरेलू  नुस्खा

सामग्री: सतावर, धागे वाली मिश्री और एक गिलास दूध

स्टेप १: सतावर को अच्छी तरह पीस कर उसका पाउडर बना लीजिये

स्टेप २: एक गिलास दूध लीजिये और एक चम्मच सतावर पाउडर उस मे अच्छी तरह घोल लीजिये

स्टेप ३: मीठे स्वाद के लिए दूध में धागे वाली मिश्री डाले, और अच्छी तरह से घोल ले।

निर्देश: इस मिश्रण का सेवन रोजाना दिन में दो बार सुबह व शाम करें।

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए दूसरा घरेलू  नुस्खा

सामग्री: मेथी बीज, सौंफ  और एक गिलास पानी

स्टेप १: एक चम्मच मेथी बीज ले और एक चम्मच सौंफ  के बीज लेकर ओखली में कूटकर एक दानेदार पाउडर बना ले

स्टेप २: एक रात के लिए इस कूटे हुए बीज को लेकर पानी में भीगोने रख दे

निर्देश: इस मिश्रण का सेवन रोजाना सुबह खली पेट करें।

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए तीसरा घरेलू  नुस्खा

सामग्री: मसूर की दाल

स्टेप १: पानी की कुछ मात्रा लेकर उस में मसूर की दाल भिगोने के लिए छोड़ दे

स्टेप २: पूरी तरह पानी में डुबाने के बाद उसको नरम पेस्ट बनाने के लिए पीस ले

निर्देश: इस पेस्ट को अपने स्तनों में लगाए और एक घंटे तक लगा रहने दे, तत्पश्चात इसे ठन्डे पानी से धो ले।

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए चौथा घरेलू  नुस्खा

सामग्री: बादाम का तेल और सौंफ के बीज

स्टेप १: एक चम्मच सौंफ के बीज लेकर उसे 4 से 5 चम्मच बादाम तेल के साथ गर्म करें

स्टेप २: सौंफ  के लाल या भूरा होती ही, तेल को छानकर ठंडा होने के लिए छोड़ दे

निर्देश: इस तेल से अपने स्तनों की अच्छी तरह से मालिश करें।

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए पाँचवाँ घरेलू  नुस्खा

सामग्री: मेथी दाना

स्टेप १: मेथी को पूरी रात पानी में भिगोकर रख दे

स्टेप २: सुबह पानी को छानकर, मेथी के दानों को बारीक पीसकर उसका नरम पेस्ट बना ले

निर्देश: इस पेस्ट को अपने स्तनों में स्तन मास्क की तरह लगा ले और 15 से 20 मिनट तक लगे रहने दे और फिर गर्म पानी से अपने स्तनों को धो ले।

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए छठा घरेलू  नुस्खा

सामग्री: अंडा, खीरा और माखन

स्टेप १: आधे खीरे को ब्लेंडर के इस्तेमाल से पीस ले और उस में अंडे के पीले हिस्से और एक चम्मच माखन मिला ले

स्टेप २: इन सभी उत्पादों को अच्छी तरह आपस में मिला ले और एक उत्तम पेस्ट बना ले

निर्देश: इस पेस्ट को अपने स्तनों में निचे से ऊपर की ओर लगाए और आधे घंटे तक लगे रहने दे और फिर ठन्डे पानी से धो ले।

 

अविकसित स्तनों (Flat breasts) के लिए सातवाँ घरेलू नुस्खा

सामग्री: अंडा, दही और शहद

स्टेप १: एक कटोरे में अंडे के सफ़ेद द्रव को निकाल ले और उसमे एक चम्मच शहद और एक चम्मच दही मिला ले

स्टेप २: इस पेस्ट को अच्छी तरह हिलाकर मिला ले

निर्देश: इस पेस्ट को अच्छी तरह अपने स्तनों में लगाकर 15 से 20 मिनट लगा रहने दे और फिर ठन्डे या सामान्य जल से धो ले।

 

स्तनों को प्राकृतिक रूप से बढ़ाने के लिए बेस्ट खाने के पदार्थ:

  • दुग्ध उत्पाद जैसे दूध,दही, पनीर इत्यादि स्तनों के लिए काफी मददगार है
  • नारियल दूध, सोया दूध और बादाम दूध का सेवन दुग्ध उत्पादों के स्थान पर किया जा सकता है
  • सोया बीन और सोया बीन युक्त खाद्य पदार्थ
  • अखरोट और बाकी सभी नट्स
  • फ्लेक्ससीड और सूरजमुखी के बीज
  • हरी पत्तेदार सब्जियाँ स्तनों को बढ़ाने में काफी सहायता करती है

Video

Our Products

Home Remedies

GET RID OF WRINKLE