फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

फ़ूड पॉइज़निंग: कारण, सुझाव और घरेलू उपचार

फ़ूड पॉइज़निंग को फ़ूड बोर्न के रूप में भी जाना जाता है, यह गंभीर मौत का कारण बनने वाली बीमारियों में से एक है। बच्चों में फूड बोर्न या फूड पॉइजनिंग का खतरा बहुत अधिक होता है। दूषित भोजन के सेवन से फूड प्वाइजनिंग होती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अनुमान के मुताबिक, दुनिया में हर साल फूड पॉइजनिंग से 60 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित होते हैं, जिनमें से 4 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो जाती है। मरने वालों में 30%, 5 साल से कम उम्र के बच्चे हैं। यहां तक ​​कि भारत में भी हर साल फूड पॉइजनिंग के एक करोड़ से ज्यादा मामले दर्ज होते हैं, इस बीमारी ने भारत में भी लाखों लोगों की जान ले ली। फूड प्वाइजनिंग की समस्या को गंभीरता से लेना होगा और उसी के अनुसार निपटा जाना चाहिए। कुछ सरल युक्तियों और घरेलू उपचारों के साथ फूड पॉइजनिंग होने के प्रारंभिक स्टेप में ठीक किया जा सकता है।

 

फूड पॉइजनिंग क्या है?

फ़ूड पॉइज़निंग या फ़ूडबोर्न एक संक्रमण है जो दूषित भोजन, पेय, फल आदि के कारण होता है। जब भोजन बैक्टीरिया, कीटाणुओं, वायरस, विषाक्त पदार्थों या परजीवियों से दूषित हो जाता है तो ऐसे भोजन का सेवन हमें फ़ूड पॉइज़निंग की ओर ले जाता है। फूड पॉइजनिंग के लक्षणों में पेट में ऐंठन या पेट में दर्द, उल्टी या मतली की भावना, हल्का बुखार आदि शामिल हैं। यह बीमारी हमें दस्त, निर्जलीकरण और अन्य गंभीर मौत पैदा करने वाली बीमारियों जैसी गंभीर समस्याओं की ओर ले जा सकती है।

 

फूड पॉइजनिंग के लक्षण क्या हैं?

फूड प्वाइजनिंग से प्रभावित व्यक्ति को नीचे बताए गए लक्षणों का सामना करना पड़ सकता है-

  • उल्टी करना
  • दस्त
  • बुखार
  • पेट में ऐंठन या दर्द
  • थकान
  • बेचैनी
  • अम्लीय डकार

 

फूड पॉइजनिंग के कारण क्या हैं?

फूड पॉइजनिंग के प्रमुख कारणों का उल्लेख नीचे किया गया है-

  • जीवाणु संक्रमण
  • विषाणुजनित संक्रमण
  • परजीवी संक्रमण
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली
  • कुछ अस्वास्थ्यकर तरीके से पकाना या पकाना
  • अशुद्ध बर्तन
  • कच्चा मांस और अंडे सहित अधपका भोजन
  • बिना पाश्चुरीकृत दूध, पनीर आदि का सेवन
  • समुद्री भोजन और कच्ची शंख का अधिक सेवन

 

फूड पॉइजनिंग की जटिलताओं क्या हैं?

फूड पॉइजनिंग से जुड़ी जटिलताएं नीचे बताई गई हैं-

  • निर्जलीकरण
  • दस्त
  • किडनी खराब
  • गठिया
  • मस्तिष्क क्षति

 

फ़ूड पॉइज़निंग के इलाज के लिए क्या करें और क्या न करें?

घर पर फ़ूड पॉइज़निंग को ठीक करने के लिए नीचे बताए गए सुझावों का पालन करें-

  • इलेक्ट्रोलाइट युक्त तरल पदार्थ पिएं
  • छाछ पिएं
  • हर्बल चाय और सूप पिएं
  • उबले हुए भोजन का सेवन करें
  • भोजन से पहले और बाद में हर बार अपना हाथ धोएं
  • उचित स्वच्छता बनाए रखें
  • स्वस्थ भोजन का सेवन करें
  • वसायुक्त भोजन, तला हुआ भोजन और जंक फूड से बचें
  • केला खाओ
  • ज्यादा खाना न खाएं
  • उचित आहार लें

 

फूड पॉइजनिंग के घरेलू उपाय

घर पर फूड पॉइजनिंग का इलाज करने के लिए नीचे बताए गए घरेलू उपचारों का पालन करें-

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: दही, जीरा और मेथी दाना

स्टेप 1: एक छोटी कटोरी दही में एक बड़ा चम्मच जीरा पाउडर और एक बड़ा चम्मच मेथी दाना पाउडर मिलाएं।

स्टेप 2: एक अच्छा मिश्रण पाने के लिए तीनों सामग्रियों को अच्छी तरह मिलाएं।

निर्देश: पेट में ऐंठन और उल्टी को कम करने के लिए इस मिश्रण को दिन में दो बार सेवन करें। यह घरेलू उपाय फूड पॉइजनिंग के प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है।

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: अदरक, जैविक शहद और पानी

स्टेप 1: एक बड़ा चम्मच कद्दूकस किया हुआ अदरक लें और इसे एक गिलास पानी में मिलाएं।

स्टेप 2: पानी को अच्छी तरह उबाल लें और फिर उसमें एक बड़ा चम्मच शुद्ध शहद मिलाएं।

निर्देश: इस अदरक-शहद की चाय को नियमित रूप से दिन में कम से कम दो बार पियें। यह घरेलू उपचार फ़ूड पॉइज़निंग के लिए प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है और यह उपाय फ़ूड पॉइज़निंग पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है।

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: पानी, सेंधा नमक और नींबू का रस

स्टेप 1: एक गिलास गर्म पानी लें और उसमें एक से दो बड़े चम्मच नींबू का रस मिलाएं।

स्टेप 2: इसमें आधा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं।

निर्देश: भोजन की विषाक्तता से तुरंत राहत के लिए इस मिश्रण को दिन में दो बार पियें।

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: पुदीना पत्ता और पानी

स्टेप 1: पुदीने की कुछ पत्तियां लें और उन्हें पिस कर गाढ़ा पेस्ट बना लें।

स्टेप 2: पिसे हुए पुदीने को एक गिलास गर्म पानी में छान लें।

निर्देश: इस मिश्रण को खाना खाने के बाद नियमित रूप से पियें। फूड प्वाइजनिंग की समस्या से खुद को दूर करने के लिए अपनाएं यह घरेलू उपाय।

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: सेब का सिरका और पानी

स्टेप 1: दो बड़े चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और एक कप गर्म पानी लें।

स्टेप 2: एक अच्छा गर्म मिश्रण प्राप्त करने के लिए दोनों सामग्रियों को अच्छी तरह मिलाएं।

निर्देश: इस मिश्रण को खाना खाने से ठीक पहले पिएं। यह घरेलू उपाय फूड पॉइजनिंग को कम करने में मदद करता है।

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: नींबू का रस और चीनी

स्टेप 1: एक चुटकी चीनी के साथ एक बड़ा चम्मच नींबू का रस लें।

स्टेप 2: दोनों सामग्री को अच्छी तरह मिला लें।

निर्देश: इस मिश्रण को दिन में दो से तीन बार सेवन करने से घर में ही फूड प्वाइजनिंग की समस्या दूर हो जाती है।

 

फूड पॉइजनिंग का घरेलू इलाज

सामग्री: दही और मेथी दाना

स्टेप 1: एक छोटी कटोरी दही लें और उसमें एक बड़ा चम्मच मेथी दाना मिलाएं।

निर्देश: इस मिश्रण को बीज के साथ सेवन करें, मेथी हमारे पेट के लिए बहुत अच्छी सामग्री है।

Our Products

Home Remedies

The Right Way To Drink Milk : Sanyasi Ayurveda