सफ़ेद बालों के लिए घरेलू उपाय

सफ़ेद बाल

क्या आप जानते है, हमारे बाल औसतन हर दिन ०.33 मिली मीटर बढ़ते है, यानि एक महीने में हमारे बाल औसतन एक सेंटीमीटर बढ़ते है। बालो का रंग सफ़ेद होना एक आम बात है।  बढ़ती हुई उम्र के साथ साथ बालो का सफ़ेद होना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है।  क्या हो अगर बाल भरी जवानी में सफ़ेद होने लग जाये? यह एक चिंता का विषय बन जाता है। बालो की जड़ो में कई विशेष प्रकार की कोशिकाएं होती है, इन विशेष कोशिकाओं को मेलानोसाइट्स कहते है, ये मेलानोसाइट्स एक मेलानिन नाम का पिग्मेंट बालो की जड़ो में छोड़ते है जिससे बालो को उनका प्राकृतिक रंग मिलता है। मेलानोसाइट्स एक निश्चित उम्र तक व्यक्ति के बालो में मेलानिन पैदा करता है।  जवान युवको और युवतियों में समय से पहले सफ़ेद बाल तभी आते है जब मेलानोसाइट्स काम करना बंद कर देते है जिस कारण मेलानिन पिग्मेंट उत्पन्न नहीं हो पाता।

बालो का सफ़ेद होना कैनीटाइस कहलाता है, आयुर्वेद के अनुसार ३२ साल से पहले सफ़ेद बालो का आना प्राकृतिक नहीं है।  आयुर्वेद में बालो के उम्र से पहले सफ़ेद होने को अकाल पालित्य कहते है।

 

बालो के समय से पहले सफ़ेद होने के क्या कारण है ?

बालो के सफ़ेद होने के कई कारण हो सकते है, जैसे-

  • वंशानुगत
  • तनाव और डिप्रेशन
  • अनिद्रा
  • ऑटोइम्म्युने डिसऑर्डर
  • थाइरोइड की समस्या
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • पोषण की कमी
  • मिनरलस आदि की कमी
  • धूम्रपान करना
  • प्रदूषण व पर्यावरण में बदलाव
  • सर की देख रेख में कमी
  • बालो और सर में केमिकल से भरी चीजों का उपयोग
  • बालो में हेयर ड्रायर और स्ट्राइटनेर का प्रयोग

बालो के सफ़ेद होने के क्या परिणाम होते है?

जब हमारा शरीर कोई अंदुरनी या बाहरी तकलीफ से गुजरता है तो वह कई चीजों के माध्यम से हमें सुचना देता है, ताकि हम सही समय में सही कदम उठाकर उस तकलीफ और समस्या का समाधान कर सके। बालो के सफ़ेद होने की शुरुआत में ही उसका उपचार समस्या को कुछ ही समय में मिटा सकता है।  बालो का समय से पहले सफ़ेद होना कई गंभीर समस्याओं का कारण बन सकता है, बालो का समय से पहले सफ़ेद होना डायबिटीज, एनीमिया और थाइरोइड जैसी गंभीर समस्याओ का संकेत हो सकता है। बालो के समय से पहले सफ़ेद होने से व्यक्ति अपनी उम्र से अधिक बड़ा लगने लगता है, उसमे हीन भावना का जन्म होने लगता है, कॉन्फिडेंस नहीं रहता, समाज में अलग-थलग हो जाता है। इसका समय में उपचार और देख रेख जरुरी है।

क्या करें और क्या न करें  जब बाल समय से पहले सफ़ेद हो जाये ?

क्या न करें -

  • एसिडिक खाने को न खाये
  • लवड़ीय भोजन का सेवन न करें  
  • सफ़ेद बालो को न तोड़े
  • केमिकल कलर का इस्तेमाल न करें
  • सूर्य के सामने कम आये
  • रात्रि में देर तक न उठे
  • धूम्रपान न करें  
  • मानसिक गतिविधियों को नियंत्रित करें  
  • गुस्सा, चिंता आदि न करें  

क्या करें  -

  • खुशमय जीवन जीए
  • व्यायाम इत्यादि अत्यधिक न करें  
  • विटामिन वाले भोग का सेवन करें
  • अंडा, मछली का सेवन करें  
  • दूध का सेवन करें  
  • मशरुम का सेवन करें

सफ़ेद बालो को ठीक करने के घरेलु उपचार (होम रेमेडी)

पहला घरेलू उपचार के लिए सामग्री-

  1. 400ml कोल्ड प्रेस्सेड नारयल तेल
  2. 200gr आमला के सूखे टुकड़े
  3. 200gr तुरई के सूखे टुकड़े
  4. 200gr अदरक के सूखे टुकड़े
  5. एक चम्मच कलोंजी का बीज

 निर्देश-

आमला, तुरई, अदरक और कलोंजी के बीज को तेल में मिला ले और मंदी आंच में लोहे के कड़ाही में टुकड़ो के भूरा होने तक गर्म करें ।  भूरा होते ही उसको छानकर एक डिब्बे में भरले और सफ्ताह में सोने से पहले बालो की जड़ो में अच्छी तरह से लगाए।

 

दूसरा घरेलु उपचार के लिए सामग्री-

  1. करी के कुछ पत्ते
  2. नारयल तेल

 निर्देश-

करी पत्तो को नारयल तेल में अच्छी तरह से मिलाकर मंदी आंच में पत्तो के भूरा होने तक गर्म करें  और भूरा होने के बाद सावधानी से छानकर एक डिब्बे में भरले और सप्ताह में तीन बार इस तेल को नरम हाथो से बालो की जड़ो में मले।

तीसरा घरेलु उपचार के लिए सामग्री-

  1. 2 चम्मच नीबू का रस
  2. 3 चम्मच बादाम का तेल

निर्देश-

निम्बू के रस को बादाम तेल में अच्छी तरह मिलाये और नरम उंगलियों में वह मिश्रण लेकर सर की चम्फी करें । आधे घंटे बाद सर को धो ले।

चौथा घरेलु उपचार सामग्री-

  1. 6 -7 आमला के छोटे टुकड़े
  2. 3 चम्मच तेल (नारयल तेल, बादाम तेल, ओलिव तेल)
  3. एक चम्मच मेथी के दाने का पाउडर

निर्देश-

आमला के टुकड़ो को तेल में कुछ मिनटों के लिए गर्म करें  फिर मेथी-दाना पाउडर उसमे मिलाये और छानले, मिश्रण को ठंडा होने दे और सोने से पहले बालो की जड़ो में लगाए।

Video

Our Products

Home Remedies

FOR STRONG HAIR