सिरदर्द के लिए घरेलू नुस्खे

सिरदर्द: कारण और घरेलू नुस्खे

सिरदर्द एक ऐसी समस्या है जिसे हर व्यक्ति रोजमर्रा के जीवन में कई बार महसूस करता है। हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों में सिरदर्द की समस्या देखते रहते है। सिरदर्द इस क़द्र लोगों को सामान्य लगने लगा है की लोग इसका इलाज करने के स्थान पर बिना चिकित्सक की सलाह के कोई भी दवा खा लेते है। सिरदर्द सामान्यतः तभी होता है जब व्यक्ति अत्यधिक स्ट्रेस लेने लगता है और चिंता में अपना जीवन व्यतीत करने लगता है। सिरदर्द होने के बहुत से कारण होते है और प्रत्येक कारण के अलग-अलग लक्षण होते है। सिरदर्द का इलाज नीचे लिखे गए टिप्स और घरेलू नुस्खों से आसानी से घर पर भी किया जा सकता है। सिरदर्द का इलाज करना और सिरदर्द को गंभीरता से लेना अति-आवश्यक है, क्योंकि यह क्रोनिक भी हो सकती है।

सिरदर्द क्या है?

सिर के किसी भी हिस्से में दर्द हो, दर्द कम हो अथवा ज्यादा हो सिरदर्द कहलाता है। सिरदर्द एक ऐसी समस्या जिसे अधिकतर लोग इतनी गंभीरता से नहीं लेते। सिरदर्द सभी व्यक्तियों को सामान रूप से प्रभावित करता है, भले ही वह महिला हो, पुरुष हो या कोई बच्चा हो। सिरदर्द चिंता और स्ट्रेस के कारण तो होता ही बाकी और भी कई कारण है जो सिरदर्द को बढ़ाने का कार्य करते है जैसे रात को देर से सोना या ठीक से न सोना, देर तक फ़ोन चलाना, देर तक टीवी देखना, शराब का सेवन आदि। जब भी लोगों को सिरदर्द होता है वे अकसर उसको सहन करते है और रहने देते है या कोई भी दवा खा लेते है, बाद में वह दवा कई साइड-इफेक्ट्स पैदा करती है। सिरदर्द को समझने के लिए हमें उसके भिन्न प्रकारों को देखना पड़ेगा।

 

सिरदर्द का प्रकार

सिरदर्द सामान्यतः चार प्रकार के होते है, जिनका वर्णन निम्नलिखित है-

 

साइनस सिरदर्द: नाख और आखो के आस-पास इंफेक्शन से होने वाले दर्द को साइनस का सिरदर्द कहते है।

स्ट्रेस सिरदर्द: स्ट्रेस चिंता के कारण होने वाले सिरदर्द में हमे माथे में और सिर के पीछे और गर्दन में दर्द होता है, स्ट्रेस सिरदर्द चिंता युक्त जीवन जीने और काफी चिंता करने से होता है।

माइग्रेन सिरदर्द: सिर के एक हिस्से में कुछ देर के लिए असहनीय तीक्ष्ण दर्द और दूसरे हिस्से में हल्का दर्द, माइग्रेन सिरदर्द के कारण होता है। माइग्रेन सिरदर्द रौशनी या प्रकाश के संपर्क में रहने जैसे मोबाइल देर तक चलाने से और उच्च ध्वनि के कारण होता है।

क्लस्टर सिरदर्द: इस सिरदर्द को होरटन का सिंड्रोम भी कहते है, यह उन सिरदर्द की श्रेणी में आता है जिसमें सिर में गंभीर दर्द होता है। क्लस्टर सिरदर्द में पैटर्न्स में सिरदर्द होता है। इसमें सिर के एक हिस्से की आँख और ऑय-ब्रो के आस-पास दर्द होता है।

सिरदर्द होने के क्या कारण है?

सिरदर्द होने के कुछ मुख्या कारण निम्नलिखित है-

  • शराब का अत्यधिक सेवन
  • मोबाइल फ़ोन, टीवी, लैपटॉप्स, कंप्यूटर इत्यादि का अत्यधिक उपयोग
  • सोने में अनियमितता
  • चिंता और डिप्रेशन
  • किसी अन्य रोग की दवा चल रही हो
  • प्रकाश व ध्वनि से समस्या
  • धूम्रपान
  • सोते समय सही अवस्था में न सोना
  • खराब रूटीन में जीवन व्यतीत करना
  • इंसोम्निया या अनिद्रा
  • किसी अन्य बीमारी के कारण जैसे हाई कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्त चाप, मस्तिष्क के रोग आदि
  • पर्यावरण बदलाव

 

सिरदर्द से क्या समस्याएं हो सकती है?

सिरदर्द से होने वाली समस्याएं निम्नलिखित है-

  • क्रोनिक सिरदर्द
  • डिप्रेशन और एंग्जायटी की समस्या
  • इंसोम्निया और अनिद्रा
  • डिज़्ज़िनेस्स और थकावट
  • माइग्रेन
  • ध्यान न दें पाना

 

सिरदर्द में क्या करें और क्या न करें?

  • शराब का सेवन न करें
  • तंबाकू का सेवन और धूम्रपान न करें
  • मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर इत्यादि के उपयोग को कम करें
  • उच्च डेसिबेल वाला संगीत या कोई भी ध्वनि न सुने
  • रात में देर से न सोये
  • कम से कम 8 घंटे की नींद अवश्य ले
  • अच्छी तरह सही अवस्था में सोये
  • चिंता व स्ट्रेस को नियंत्रित रखे
  • हर्बल चाय का सेवन करें
  • एक रूटीन को फॉलो करें
  • प्रचुर मात्रा में जल का सेवन करें, कम से कम 8 गिलास पानी रोजाना पिए
  • कैफीन की कम से कम मात्रा शरीर में ले (चाय या कॉफ़ी का सेवन काफी कम करें)
  • अपने आसपास के वातावरण से स्वयं को ज्यादा प्रभावित न करें
  • वह चीजे करें जो आपको खुश रखती है
  • स्वस्थ भोजन का सेवन करें
  • सिरदर्द को कम करने के लिए योग साधना का प्रयोग करें
  • रात में समय पर सो जाये

 

सिरदर्द के लिए घरेलू नुस्खे

सिरदर्द को कम करने के लिए निम्नलिखित घरेलू नुस्खों का पालन अवश्य करें

 

सिरदर्द के लिए पहला घरेलू नुस्खा

सामग्री: लौंग, चीनी और पानी

स्टेप १: 4 से 5 लौंग की बालिया लीजिये और उनको कूटकर उसका पाउडर बना लीजिये

स्टेप २: एक गिलास पानी लेकर, पानी में कूटा हुआ लौंग पाउडर डालकर उसको उबाल लीजिये और जब तक वो पहले से आधा न हो जाये तब तक उबाले

स्टेप ३: उबालने के पश्चात उसे छानकर एक गिलास में निकाल लीजिये और आधा चम्मच चीनी मिलाकर अच्छी तरह घोल लीजिये।

निर्देश: जब यह लौंग की चाय पीने योग्य गर्म हो जाये तो इसका सेवन कीजिये। इसका सेवन सिरदर्द से बहुत जल्दी राहत प्रदान करता है। इसका सेवन निरंतर करने से क्रोनिक सिरदर्द भी ठीक हो जाता है।

 

सिरदर्द के लिए दूसरा घरेलू नुस्खा

सामग्री: अदरक, तुलसी के पत्ते और एक कप पानी

स्टेप १: एक कप पानी में 7 से 8 तुलसी के पत्ते और कद्दूकस हुए अदरक को लेकर उसको उबाले

स्टेप २: उबालने के पश्चात उसको बिना छाने एक गिलास में लीजिये

निर्देश: इसका सेवन आप बिना छाने ही करें। इसका सेवन आप चाय या कॉफ़ी के स्थान में कर सकते है।

 

सिरदर्द के लिए तीसरा घरेलू नुस्खा

सामग्री: नीम के कुछ पत्ते, एक चुटकी हल्दी पाउडर, दो अमला के दाने, अदरक के छोटे कटे हुए टुकड़े और एक गिलास पानी

निर्देश: इन सभी चीजों को पानी में अच्छी तरह मिलकर गर्म करें और गर्म करने के बाद गर्म ही इसको पिए। यह मिश्रण सिरदर्द को तुरंत बेअसर करने में मदद करता है।

 

सिरदर्द के लिए चौथा घरेलू नुस्खा

सामग्री: लैवेंडर का तेल और तिल का तेल

निर्देश: इन तेलों में से किसी भी एक तेल से आप अपने सर, कपाल और टेम्पल की अच्छी तरह मालिश करें, इससे सिरदर्द से उठने वाले दर्द में बहुत राहत मिलती है।

 

सिरदर्द के लिए पाँचवाँ घरेलू नुस्खा

सामग्री: एक चौथाई कप चुकंदर का जूस, एक चौथाई कप ककड़ी या खीरे का जूस और आधा कप गांजर का जूस

निर्देश: इन सभी उत्पादों को अच्छी तरह आपस में मिलाकर रोजाना पिए। यह सिरदर्द को नियंत्रित करता है।

 

सिरदर्द को कम करने के लिए 5 टिप्स-

  • कैमोमाइल की चाय को रोजाना पिए
  • अंधकार और सांत वातावरण में रहे
  • पत्तेदार सब्जियों, बादाम, सूरजमुखी के बीज, केले, ओट्स और नारियल पानी का सेवन करें
  • अदरक और काली मिर्च मिला गर्म चाय या मिश्रण को रोजाना पिये
  • बर्फ या गर्म पट्टी को गले या सर में रखे

Video

Our Products

Home Remedies

Natural Face Wash